Wednesday , August 3 2022

Delhi Violence: दिल्ली हिंसा का डरावना सच, पत्थरबाजी से 22 लोगों की मौत 13 गोली का शिकार हुए

  •  दिल्ली में हिंसा के बाद आज पहला जुमा
  •  पुलिस के लिए आज का दिन चुनौतीभरा
  •  बीते 2 दिनों से हिंसा की कोई खबर नहीं

दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट इलाकों में हुई हिंसा के बाद आज शुक्रवार को पहला जुमा है. पुलिस के लिए आज का दिन किसी                परीक्षा से कम नहीं होने वाला है. दिल्ली पुलिस के सामने सुरक्षा-व्यवस्था की बड़ी चुनौती होगी.

बीते दिनों देश की राजधानी के कुछ इलाकों में हिंसा भड़कने के बाद पुलिस की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे. यहां तक           की सुप्रीम कोर्ट ने पुलिस पर सख्त टिप्पणी की और कहा कि उसे Out of the box जाकर काम करना चाहिए.

 

    जुमे की नमाज ऐसे समय पढ़ी जाएगी जब दिल्ली में तनाव का माहौल है. ऐसे        में   पुलिस की कोशिश होगी कि आज सब कुछ शांतिपूर्वक निपट जाए, जिसके        बाद ही पुलिस राहत की सांस ले पाएगी.

चुनौती भरा दिन

जुमे की नमाज ऐसे समय पढ़ी जाएगी जब दिल्ली में तनाव का माहौल है. ऐसे में पुलिस की कोशिश होगी कि आज सब            कुछ शांतिपूर्वक निपट जाए, जिसके बाद ही वह राहत की सांस ले पाएगी. दिल्ली पुलिस के लिए आज दोहरी परीक्षा का            दिन है. एक ओर जहां पुलिस का सारा फोकस नॉर्थ-ईस्ट इलाके में होगा तो वहीं साउथ दिल्ली के जामिया में जुमे की                 नमाज पढ़ने के बाद मार्च निकाला जाएगा.

ये मार्च जामिया के जामा मस्जिद से सेंट्रल कैंटीन तक निकाला जाएगा. पुलिस की कोशिश होगी कि ये मार्च शांतिपूर्वक         निकल जाए और कोई भी अप्रिय घटना न हो.

 

     अब काबू में हालात

नॉर्थ-ईस्ट दिल्ली में तीन दिनों की हिंसा के बाद हालात अब काबू में हैं. बीते दो दिनों से हिंसा की कोई खबर नहीं आई है जो       पुलिस के लिए बड़ी राहत की बात है. दिल्ली पुलिस के पीआरओ एमएस रंधावा ने गुरुवार को कहा कि पुलिस ने 48                  एफआईआर दर्ज की है और 106 लोगों को गिरफ्तार किया गया है.

 

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com